Login

प्रीडायबिटीज क्या है? इसके सामान्य लक्षण, कारण, निदान, सीमा और उपचार को समझे।

   
Dr Ravin Sharma
MD Radiologist

09 Feb 2024

Share Post     
प्रीडायबिटीज क्या है?  इसके सामान्य लक्षण, कारण, निदान, सीमा और उपचार को समझे।

प्रीडायबिटीज या पूर्व मधुमेह को ऐसा टर्म माना गया है, जो एक संकट स्थिति बन जाता है जब...

प्रीडायबिटीज या पूर्व मधुमेह को ऐसा टर्म माना गया है, जो एक संकट स्थिति बन जाता है जब आपके शरीर को क्लास के साइड में ही सिग्नल मिलता है। आपके सीधे सरल शब्दों में कहा जाता है, तो सहकर्मियों के भी पहले स्टेज में प्रीडायबिटीज आ जाएगी। इसके टॉपिक के बारे में ज्यादातर लोगों को कोई आइडिया नहीं है और यही एक चिंता का भी विषय है। ऐसा भी इसलिए है क्योंकि ये क्योंकि यहां ज्यादा रिस्क से भरा हुआ है।

जब नई दिल्ली में एलसीडी रिसर्च सेंटर है तो आपका मधुमेह की रेंज देखि गई, आपका नॉर्म शुगर को अगर आगे फास्ट ( Fasting Blood Sugar) में वैल्यू है 126 और उम्र के हिसाब से इसमें 180 भी आए हैं। लेकिन उनके अगर कोई फास्टिंग में 124 और खाने के बाद (Post-Prandial Blood Glucose) भी आपकी वैल्यू 175- 179 तक आ गई। प्रीडायबिटीज भी कहा जाता है इसे इम्पेयर्ड फास्टिंग ग्लूकोज ( Impaired Fasting Glucose) ही कहा जाता है।

प्रीडायबिटीज क्या है? (Prediabetes Meaning in Hindi)

मधुमेह तब देखा गया है जब आपके शरीर के रक्त शर्करा का स्तर (रक्त शर्करा का स्तर) काफी अधिक हो जाता है, लेकिन इसको आप मधुमेह महिलाओ में या पुरुषो में के कहलाने के लिए पर्याप्त नहीं है। जिन लोगों में टाइप 2 शुगर के लक्षण होते हैं, उन लोगों में डायबिटीज निकलती है। यदि आप मधुमेह रोग देखते हैं, तो आप टाइप 2 मधुमेह के विकसित होने में अधिक खतरा रखते हैं। आपको हृदय रोग है या फिर स्ट्रोक सहित अन्य स्वास्थ्य की संरचना के विकास में खतरा रहेगा।

सब बातों में खबर अच्छी रहेगी कि जब आपको डायबिटीज हो, तो आप अपनी जीवनशैली ( Lifestyle) में भी बदलाव ला सकते हैं और इसके पूर्ण विकसित होने पर भी टाइप 2 शुगर (Type 2 Diabetes) की शुरुआत हो सकती है। सभी में जब स्वस्थ आहार का सेवन होगा, तो स्वस्थ वजन बनाए रखें और आगे नियमित व्यायाम को जीवन में शामिल करें।

प्रीडायबिटीज के लक्षण  (Prediabetes Symptoms in Hindi)

प्रीडायबिटीज पर आमतौर पर कोई भी लक्षण नहीं दिखेगा। आपके मधुमेह में एकमात्र तरीका है आपके रक्त शर्करा के स्तर का परीक्षण होगा। आमतौर पर, आपके वीडियो में मधुमेह के लक्षण नहीं होंगे, या इसमें इंसुलिन प्रतिरोध के भी लक्षण हैं, धीरे-धीरे और वर्षों तक इसकी रेंज पर ध्यान नहीं दिया जा सकता है। इसके लक्षण चेतावनी का भी संकेत हो सकते हैं। ये लक्षण कुछ इस प्रकार है:

  • प्‍यास लगाना ज्‍यादा
  • थकान होना
  • ज्यादा भूख लगना
  • वज़न घटना ज़्यादा कहने पर भी

जल्दी में भी पेशाब आने पर आपको प्रीडायबिटीज का संकेत मिल सकता है। ऐसा भी देखा गया होगा क्योंकि आपके रक्तप्रवाह में ये अतिरिक्त ग्लूकोज आपके शरीर में उम्र बढ़ने के साथ ग्लूकोज को बाहर निकालने में भी अधिक मूत्र बनाने के लिए प्रेरित कर देगा। अधिक हाय मोर हो आपका पेशाब हैं। वास्तव में अधिक संभावना यह है कि आप अपने को निर्जलित (Dehydrated) कर देंगे, जिससे आपके भूख फिर से शुरू होने पर भी वृद्धि हो सकती है।

पूर्व मधुमेह के क्या कारण हैं? (Causes of Prediabetes)

प्रीडायबिटीज के कारण कुछ इस प्रकार है:

  • कोशिकाएं इंसुलिन एजेंट भी बन जाएंगीजीवनशैली विकार के कारण
  • जब तक थोड़ी देर नहीं हो जाती, आपके लिए अतिरिक्त वैल्युएशन फीडबैक के लिए केला शुरू होता है तो भी ब्लड शुगर लेवल सामान्य ही रहता है।
  • आख़िरकारजब तुम अग्न्याशय प्रोडक्शन रिलीज़ नहीं रख पाओगे। आपके अतिरिक्त ग्लूकोज़ में भी आपके डोले में भी प्रवेश करने के बजाय आपके रक्त में भी रह जाएगा
  • इससे आपके ब्लड में शुगर की वैल्यू बढ़ती रहती है। इस बिंदु पर हाय, एक रक्त परीक्षण में आपको प्री-डायबिटीज दिखाई दे सकती है।

अगर कोई उपचार न हो, तो आप टाइप 2 में मधुमेह के साथ भी बन जायेंगे।

प्रीडायबिटीज का निदान कैसे किया जाएगा?

प्रीडायबिटीज की भी जांच के लिए आपके डॉक्टर को ब्लड टेस्ट की सलाह दी गई है। इस करणवर्ष वो "फास्टिंग ब्लड शुगर" का भी परीक्षण करना चाहिए। जो फास्टिंग ब्लड शुगर में आपके सुबह हाय खाने से पहले भी आपका हाई ब्लड शुगर का लेवल देखा जाएगा। (Normal Range of Prediabetes in Hindi)

एक तेज़ रक्त शर्करा में परीक्षण के परिणाम की सीमाएँ कुछ इस प्रकार हैं:

फास्टिंग ब्लड शुगर ( Fasting Blood Sugar)

फास्टिंग ब्लड शुगर

सामान्य रेंज

सामान्य

70 - 99 मिलीग्राम प्रति डीएल

प्रीडायबिटीज

100 - 125 मिलीग्राम प्रति डीएल

मधुमेह

126 मिलीग्राम प्रति डीएल

आपके डॉक्टर को गणेश डायग्नोस्टिक में फास्टिंग ब्लड शुगर टेस्ट कराना छोड़ सकते हैं और सीधे HbA1C ब्लड टेस्ट करा सकते हैं। यह परीक्षण पिछले 3 महीनों में आपके औसत रक्त शर्करा के स्तर के बारे में जानकारी प्रदान करता है। परिणाम प्रतिशत के रूप में रिपोर्ट किए गए हैं और मूल्य ऐसे देखे गए हैं :

HbA1C  मान ( HbA1c Values)

HbA1C

सामान्य रेंज

सामान्य

5.7% से नीचे

प्रीडायबिटीज

5.7% - 6.4%

मधुमेह

6.5% से अधिक

यदि आपकी आयु 45 वर्ष से अधिक है, तो आपको मधुमेह के लिए नियमित रूप से परीक्षण कराना चाहिए। अगर आपकी उम्र 45 साल से भी कम है तो आप जोखिम भरे खतरों की सूची में शामिल हो गए हैं, तो आप भी मधुमेह का परीक्षण करवा लेंगी।

प्रीडायबिटीज का इलाज  और उपचार ? (Prediabetes Treatment)

यदि आप जल्दी हाई डायबिटीज़ से पीड़ित हैं, तो आपको प्रीडायबिटीज़ पर भी आमतौर पर आहार और व्यायाम करना पड़ सकता है। जब आपने पहली बार डायग्नोसिस करवाया है तो आपको ब्लड शुगर भी अधिक हो गया है, इस पर आप भी एब्सट्रैक्ट होंगे और फिर आपके डॉक्टर को भी आपके ग्लूकोज के मूल्यों पर भी स्वस्थ स्तर पर और वापस आ जाएगा जब आप एक ही हाय औषधि या संयोजन पर भी चुनाव किया जा सकता है।

प्रीडायबिटीज के उपचार के लिए भी प्रीडायबिटीज की दवा का सेवन करें और हाय डायबिटीज में आपके लिए भी काफी मदद मिलेगी।

आपके रक्त शर्करा के स्तर, ए1सी, चिकित्सा इतिहास, और अन्य लक्षण आपको ऐसी स्थिति में डाल सकते हैं जहां टाइप 2 से बचने के लिए आपके उपचार योजना में दवा को शामिल किया जाना चाहिए।

जो आपका प्रीडायबिटीज है वो प्राथमिक उपचार में आ गया है वही जो आपके साथ काम करना बंद कर देता है उसके लिए आप सभी चीजें करते हैं, वो इस प्रकार है।

  • व्यायाम करें (Regular Exercise)
  • स्वस्थ आहार का सेवन  (Healthy Diet)
  • वज़न को कम करने की कोशिश करें (Weight Reduction)
  • धूम्रपान को बंद कर दें (Stop Smoking)
  • कार्ब्स कम प्रभावी भोजन  (Less Carbohydrates in Diet)
  • अधिक पानी पिजिये ( More Water Consumption)

इन 6 Points में हो सकता है कि आपके ब्लड में शुगर लेवल को नियंत्रित रूप में भी उन्हें बढ़ने से भी रोकने में आपकी मदद की जा सके। कुछ मामलों में भी, आपका ब्लड शुगर का भी लेवल कम हो जाएगा। जीवनशैली में भी ये बदलाव करके आपका प्रीडायबिटीज का मूल्यांकन किया जाएगा।

अपना Prediabetes  ब्लड टेस्ट गणेश डायग्नोस्टिक एंड इमेजिंग सेंटर में क्यों करवाएं?

गणेश डायग्नोस्टिक एंड इमेजिंग सेंटर 23 सालों से मरीजों की सहायता और उनकी ज़रूरतों को समझे टेस्ट करवाते हैं। दिल्ली में सर्वश्रेष्ठ सीबीसी परीक्षण केंद्र हैंI हमारे 7 सेंटर दिल्ली-एनसीआर में हैंI

हम काफ़ी सारी सुविधाएं ऑफर करते हैं, जैसे:

  • नि:शुल्क डॉक्टर परामर्श (परीक्षण के पहले या बाद में) Free Doctor’s Consultation
  • निःशुल्क एम्बुलेंस सेवा (स्कैन और टेस्ट के लिए) Free Ambulance
  • नि:शुल्क रक्त गृह संग्रह Free Home Sample Collection
  • आसान ऑनलाइन टेस्ट बुकिंग Online Booking of Test
  • घर के पास टेस्ट सुविधा

For Free Consultation from the Doctor

Contact- Dr. Sonal Sharma, (MBBS, MD in Pathology)

Available:  24*7*366

Phone Number: +91-9212125996

निदान

किसी भी अधिक जानकारी के लिए आप हमसे संपर्क कर सकते हैं हमारे ईमेल आईडी और फोन नंबर जो वेबसाइट पर उपलब्ध हैं! संपर्क करें!

कुछ विशेष रक्त परीक्षण जो हमारे सेंटर पर एड्स जाँच के लिए कराए जाते हैं, कुछ इस प्रकार है:

निष्कर्ष

प्रीडायबिटीज ऐसी बीमार है जिसका इलाज आप खुद कर सकते हैं। अगर आपमें अधिक गंभीर लक्षण महसूस हो रहे हैं तो हमारे डॉक्टर से निःशुल्क परामर्श सेवा प्राप्त कर सकते हैं।

ये भी जरूरी है कि आप इसके लक्षणों की निगरानी करें, जो महिलाओं और पुरुषों में सामान रूप से दिखाई पड़ते है। आप गणेश डायग्नोस्टिक एंड इमेजिंग सेंटर (Ganesh Diagnostic and Imaging Center) में मधुमेह के लिए सभी परीक्षण करवा सकते हैं जो आपका सैंपल ध्यान से कलेक्ट करेंगे और सटीक रिपोर्ट आपको पेश करेंगे। हमने पूरे Delhi-NCR में 7 Center अलग अलग जगहों पर है जहां आप अपना टेस्ट करवा सकते हैं या घर से लैब टेस्ट के लिए ( Lab test at Home)  भी हमारे यहां से  फ्री होम सैंपल कलेक्शन करवा सकते हैं। तो आज ही हमसे संपर्क करें और अपना टेस्ट बुक करें।